महसूस Sensation

● गर्भ की एक अलग चेतना → HELODERMA 3C
● कुछ सेकंड लगता है उम्र → CANNABIS INDICA Q
● उदर, चलते समय तेज पत्थरों से भरा हुआ महसूस होता है → COCCULUS INDICUS (COCCULUS) 30C
● दर्द, जैसे कि कान से एक डोरी खींचती हैं → OXYTROPIS LAMBERTI (OXYTROPIS) 3C
● कान में तेज अनुभूति → SILICEA TERRA (SILICEA) 6C
● सुबह 4 बजे पेट में अनुभूति चली जाती है। → SULPHUR 200C
● जीभ की संवेदनहीनता → CARBONEUM SULPHURATUM 3X
● सिर में चिंता → NATRIUM CARBONICUM (NATRUM CARBONICUM) 6C
● गर्म कोयले के रूप में घोर जलने वाले दर्द को भागों पर लागू किया गया → ANTHRACINUM 30C
● जलता हुआ दर्द → TARENTULA HISPANICA 30C
● हृदय के क्षेत्र में आभा महसूस हुई → CALCAREA ARSENICOSA (CALCAREA ARSENICA) 3X
● मलाशय में संवेदना गेंद की तरह > मल नहीं → SEPIA OFFICINALIS (SEPIA) 30C
● बिस्तर चींटियों से भरा लगता है → PLUMBUM METALLICUM Q
● बिस्तर इतना गर्म लगता है, उस पर लेट नहीं सकते → OPIUM (PAPAVER SOMNIFERUM) 30C
● बिना कारण के अंधापन → TABACUM 30C
● शरीर बिखरा हुआ है और अंग आपस में बातचीत कर रहे हैं → BAPTISIA TINCTORIA (BAPTISIA) Q
● मस्तिष्क ऐसा लगता है जैसे संगमरमर में बदल गया हो → CANNABIS INDICA Q
● मस्तिष्क ऐसा लगता है जैसे तरल → MAGNESIUM PHOSPHORICUM (MAGNESIA PHOSPHORICA) 6C
● सिर में भंगुर संवेदना → NATRIUM MURIATICUM (NATRUM MURIATICUM) 30C
● लंबी हड्डियों में टूटा हुआ दर्द → RUTA GRAVEOLENS 6C
● जलन और पीडा, जैसे कि काली मिर्च का लेप लगाया जाता है। → CAPSICUM ANNUUM (CAPSICUM) 6X
● स्तनों के बीच जलन → MEZEREUM 30C
● शरीर के सभी हिस्सों में जलन होना जैसे कि आग की चिंगारी भागों पर पड़ रही हो → SECALE CORNUTUM (CLAVICEPS PURPUREA) 30C
● पूरे शरीर में जलन होना मानो सुई चुभने के साथ आग लगना → RADIUM BROMATUM (RADIUM) 12X
● आग की लपटों से त्वचा में जलन → VIOLA ODORATA 6C
● गले में जलन, आग का कोयला या लाल गर्म लोहे जैसे महसूस करना → PHYTOLACCA DECANDRA (PHYTOLACCA) Q
● कार्डियक ओपनिंग बहुत कम लगती है → PHOSPHORUS 30C
● चिन लंबी लगती है → GLONOINUM 30C
● प्रकाश के बारे में बताता है → CYCLAMEN EUROPAEUM (CYCLAMEN) 3X
● हाथों पर कॉबवेब सेंसेशन → BORAX VENETA (BORAX) 3X
● शूल के रूप में अगर आंतों को एक शक्तिशाली हाथ से पकड़ लिया गया और मुड़ दिया गया → DIOSCOREA VILLOSA Q
● आवाज की आवाज के लिए तुलनात्मक बहरापन लेकिन गुजरने वाले वाहनों की आवाज के लिए बड़ी संवेदनशीलता → CHENOPODIUM ANTHELMINTICUM 3C
● एक पंख जैसे गले में अनुभूति → DROSERA ROTUNDIFOLIA (DROSERA) 6X
● मूत्रमार्ग और मलाशय में अनुभूति → FERRUM IODATUM 3X
● आँखों के सामने धुंध के साथ दिन अंधापन → RANUNCULUS BULBOSUS Q
● भ्रम ऐसा है कि एक नग्न आदमी गंदे कपड़े में उसके साथ है → PULSATILLA PRATENSIS (PULSATILLA) 12X
● भ्रम कि जैसे उसका अपने परिवार से संबंध नहीं है → PLATINUM METALLICUM (PLATINA) 6X
● भ्रम जैसे कि बहुत पतला → THUJA OCCIDENTALIS Q
● अपने परिवार से खतरे का भ्रम → KALIUM BROMATUM (KALI BROMATUM) 3X
● बहरे और गूंगे का भ्रम → VERATRUM ALBUM 30C
● भ्रम है कि अजीब लोग मरीज के कंधे पर देख रहे हैं → BROMIUM (BROMUM) 3X
● कुर्सी के नीचे चूहे का भ्रम → AETHUSA CYNAPIUM 30C
● हृदय की विकृत चेतना → PYROGENIUM 30C
● अपने अस्तित्व को खो दिया → CANNABIS INDICA Q
● कान अचानक बंद होने लगते हैं → TANACETUM VULGARE Q
● जीभ की लम्बी अनुभूति → MURIATICUM ACIDUM 3C
● एपिलेप्टिक आभा गर्भाशय से पेट तक फैली हुई → BUFO RANA (BUFO) 30C
● एपिलेप्टिक आभा गर्भाशय से गले तक फैली हुई → LACHESIS MUTUS (LACHESIS) 30C
● एपिलेप्टिक आभा यौन अंगों या सौर जाल से शुरू होती है → BUFO RANA (BUFO) 30C
● हर श्रवण ध्वनि दांतों से प्रवेश करती है → THERIDION CURASSAVICUM (THERIDION) 30C
● प्रत्येक ध्वनि पूरे शरीर में प्रवेश करती प्रतीत होती है → THERIDION CURASSAVICUM (THERIDION) 30C
● पेट में दर्द का विस्तार → CALCAREA CARBONICA (CALCAREA CARBONICA – OSTREARUM) 200C
● आँखों को ऐसा लगता है जैसे धुएँ में → CROCUS SATIVUS (CROCUS SATIA) Q
● आंखें आग की गेंदों की तरह गर्म → RUTA GRAVEOLENS 6C
● अधिजठर पर बेहोशी, कमजोरी और एक अवर्णनीय भावना → LOBELIA INFLATA Q
● महसूस करें कि वह एक काम करने वाली मशीन है → PLUMBUM METALLICUM Q
● ऐसा महसूस होना मानो शरीर का कोई अंग अनुपस्थित था → COCAINUM HYDROCHLORICUM (COCAINA) Q
● ऐसा महसूस होता है जैसे बिस्तर तैर रहा है → CONIUM MACULATUM (CONIUM) 200C
● ऐसा लग रहा है जैसे भ्रूण क्रॉस वार कर रहे थे → ARNICA MONTANA (ARNICA) 30C
● ऐसा लग रहा है जैसे वह गिर रहा है → STRAMONIUM Q
● ऐसा महसूस होता है कि हर्निया पेट से बाहर निकलेगा → SULPHURICUM ACIDUM Q
● नसों में गर्म पानी जैसा महसूस होना → SYPHILINUM 1M
● पेट में कुछ कड़वा होने जैसा महसूस होना → CUPRUM METALLICUM 30C
● ऐसा महसूस होना मानो योनि फैली हुई है → SANICULA AQUA (SANICULA) 30C
● ऐसा लग रहा है जैसे कशेरुक एक दूसरे के खिलाफ रगड़ रहे हैं → ANTIMONIUM TARTARICUM 6X
● स्तन के क्षेत्र में गोली का लगना महशूस होता है → LILIUM TIGRINUM 200C
● पेट में बर्फ का पानी महसूस होना → KREOSOTUM 30C
● सुपरस्टर्नल फोसा के पास प्राकृतिक धब्बा महशूस होना → ARGENTUM METALLICUM 12X
● प्रतिदिन एक ही समय में पेट में पथरी महशूस होना → ARANEA DIADEMA Q
● उरोस्थि के तहत अल्सरेशन महशूस होना → PSORINUM 200C
● ऐसा लगता है जैसे पेट के निचले हिस्से में आंतें बैठ गई थीं → OPUNTIA FICUS (OPUNTIA-FICUS INDICA) 3X
● ऐसा लगता है जैसे आंख दूर पिघल जाएगी → HAMAMELIS VIRGINIANA (HAMAMELIS VIRGINICA) Q
● ऐसा लगता है जैसे हवा में तैर रहा हो → STICTA PULMONARIA (STICTA) Q
● ऐसा लगता है जैसे कि भ्रूण में गर्भाशय में कमरे की कमी थी → PLUMBUM METALLICUM Q
● ऐसा महसूस होता है जैसे उसे एक स्पॉन्ज के माध्यम से सांस लेना है → SPONGIA TOSTA 3X
● ऐसा लगता है जैसे बर्फ पर लेटा हो → LYCOPODIUM CLAVATUM (LYCOPODIUM) 200C
● ऐसा महसूस होता है कि जैसे कि टेंपोनम ठंडी हवा के संपर्क में था और यह कान तक उड़ गया → MEZEREUM 30C
● लगता है कि त्वचा फट जाएगी → TARENTULA HISPANICA 30C
● लगता है कि बिस्तर तैर रहा है → BELLADONNA 30C
● लगता है कि शरीर मिठाइयों से बना है → MERCURIUS SULPHURICUS, DRARG, OXYD, SUB-SULPH 30C
● लगता है कि बच्चा उसका नहीं है → ANACARDIUM ORIENTALE (ANACARDIUM) 30C
● महसूस होता है कि वह जिस भी चीज को छूता है वह दूषित होती है → ARSENICUM ALBUM 30C
● लगता है कि हर कोई शैतान है → MELILOTUS OFFICINALIS (MELILOTUS) Q
● लगता है कि उसने अपना स्वास्थ्य बर्बाद कर लिया है → CHELIDONIUM MAJUS Q
● विभिन्न रंगों की झिलमिलाहट → CYCLAMEN EUROPAEUM (CYCLAMEN) 3X
● शून्यता की अनुभूति के साथ मलाशय में भराव → THUJA OCCIDENTALIS Q
● रक्त की अनुचित मात्रा से विभिन्न भागों में भराव → AESCULUS HIPPOCASTANUM Q
● हरा रंग मोमबत्ती की रोशनी को घेर लेता है → OSMIUM 6C
● स्तनों में गड़गड़ाहट होना → CROTON TIGLIUM 30C
● सिर ऐसा लगता है जैसे कि बर्फीले ठंडे हाथ से छुआ गया हो → HYPERICUM PERFORATUM (HYPERICUM) Q
● सिर को लगता है कि मस्तिष्क के लिए खोपड़ी बहुत छोटी थी → GLONOINUM 30C
● सिरदर्द जैसे कि एक रबर बैंड को टेंपल से टेंपल तक माथे पर कसकर खींचा गया था → CARBOLICUM ACIDUM 30C
● सिर दर्द जैसे कि सिर के टुकड़े हो गए हों, रात को उठकर बैठना पड़ता है → CARBO ANIMALIS 30C
● सिरदर्द जैसे कि हजारों छोटे हथौड़े मार रहे थे → NATRIUM MURIATICUM (NATRUM MURIATICUM) 30C
● सिर दर्द जैसे कि सिर में बवंडर → CARBO ANIMALIS 30C
● हवा में ऊंचा उठने के रूप में अनुभूति के साथ सिरदर्द → HYPERICUM PERFORATUM (HYPERICUM) Q
● सुनकर उलझन में पड़ सकता है कि ध्वनि किस दिशा से आती है → CARBOLICUM ACIDUM 30C
● शोर में बेहतर लगता है → GRAPHITES 30C
● गले में दिल का धड़कना महसूस होना → PHYSOSTIGMA VENENOSUM Q
● निपल्स में गर्मी → PHOSPHORUS 30C
● पूरे शरीर में विशेषकर अंगों पर भारीपन महसूस होना → PICRICUM ACIDUM 6C
● योनि में ठंड लगना → BORICUM ACIDUM 3X
● लेई अनुभूति नीचे रीढ़ → STRYCHNINUM PURUM (STRYCHNINUM) 30C
● भ्रम, घर से दूर घर जाना चाहिए → BRYONIA ALBA (BRYONIA) 12X
● दो नाकों के होने का भ्रम → MERCURIALIS PERENNIS 3C
● कस्तूरी की गंध का भ्रम → AGNUS CASTUS 6C
● कल्पना करता है कि वह महसूस कर सकता है कि एक कमरे की हवा अगले कमरे में खोली गई है → HERACLEUM SPHONDYLIUM (HERACLEUM – BRANCA URSINA) 3C
● कल्पना करता है कि वह एक आत्मा असार की तरह हवा में मँडरा रहा है। → ASTERIAS RUBENS 6C
● मिर्गी के दौरे में पैरों में दर्द शुरू हो जाता है → CUPRUM METALLICUM 30C
● स्वरयंत्र की असंवेदनशीलता → KALIUM BROMATUM (KALI BROMATUM) 3X
● प्रेरित वायु ठंडी महसूस होती है → CORALLIUM RUBRUM (CORALLIUM) 6X
● बहुरूपदर्शक दृष्टि और श्रवण → ANHALONIUM LEWINII (ANHALONIUM) Q
● चाकू दर्द की तरह → HYDRASTIS CANADENSIS (HYDRASTIS) Q
● हृदय के आधार से लेकर शीर्ष तक का दर्द → SYPHILINUM 1M
● बायां स्तन ऐसा महसूस करता है मानो अंदर की ओर खींचा हुआ है → ASTERIAS RUBENS 6C
● पैर बहुत छोटे लगते हैं → KALIUM CARBONICUM (KALI CARBONICUM) 200C
● पत्र चींटियों लगते हैं → HYOSCYAMUS NIGER (HYOSCYAMUS) 30C
● मस्तिष्क में हल्कापन → THYROIDINUM 30C
● मुंह ऐसा लगता है मानो हवा से भर गया हो → ACONITUM NAPELLUS 3C
● सीने में मतली महसूस हुई → RHUS TOXICODENDRON 30C
● कान में मतली महसूस हुई → DIOSCOREA VILLOSA Q
● मतली सिर में महसूस हुई → COCCULUS INDICUS (COCCULUS) 30C
● मतली मलाशय में महसूस हुई → RUTA GRAVEOLENS 6C
● जीभ में सुई की तरह दर्द होना → NUX VOMICA 30C
● ग्रीवा में सुई चुभने जैसी दर्द → CAULOPHYLLUM THALICTROIDES (CAULOPHYLLUM) Q
● निप्पल आग की तरह जलते हैं → SULPHUR 200C
● मधुमक्खी के भिनभिनाहट की तरह कान में शोर → RHODODENDRON FERRUGINEUM (RHODODENDRON) 6C
● पेट में जानवरों के चिल्लाने जैसा शोर → STRAMONIUM Q
● वस्तुएं आँखों के समीप लगती हैं → VALERIANA OFFICINALIS (VALERIANA) Q
● बैठने पर महसूस होता है जैसे कि योनि में कुछ ऊपर की ओर दबा है → FERRUM IODATUM 3X
● अंग एक साथ खींचे हुए लगते हैं → NAJA TRIPUDIANS 30C
● दर्द ऐसा होता है जैसे मांसपेशियों को उसके लगाव से फाड़ा गया हो → NITRICUM ACIDUM 6C
● दर्द ऐसा कि मानो कांच के टुकड़े गुदा में चिपके हों → RATANHIA PERUVIANA (RATANHIA) 6C
● दर्द ऐसा होता है जैसे दांत टूट जाएंगे → BELLADONNA 30C
● पेट में दर्द होना जैसे कि दो स्टोंस कोलोक के बीच में निचोड़ा गया हो। → COLOCYNTHIS 30C
● पेट की रिंग में दर्द, जैसे कि कुछ चींजो पर बहार कि ओर बल लग रहा है → COCCULUS INDICUS (COCCULUS) 30C
● सभी जोड़ों में दर्द होना मानो कण्डरा बहुत छोटा हो → CIMEX LECTULARIUS (CIMEX – ACANTHIA) 12X
● मूत्राशय की गर्दन में दर्द होना मानो एक तिनका जोर-जोर से आगे-पीछे हो रहा था → DIGITALIS PURPUREA (DIGITALIS) Q
● दर्द दबाव है, एक कुंद साधन के रूप में → SULPHURICUM ACIDUM Q
● रात के समय दर्द होना मानो हड्डियों को कुरेद दिया गया → PHOSPHORICUM ACIDUM Q
● विवरण से परे दर्द हो रहा है → OXALICUM ACIDUM 30C
● बिजली के झटके की तरह उड़ते हुए दर्द → PHYTOLACCA DECANDRA (PHYTOLACCA) Q
● चेहरे में खिंचाव महसूस हुआ → MURIATICUM ACIDUM 3C
● भागों को छूने के लिए ठंडा लेकिन रोगी के लिए ठंड के अधीन नहीं → LEDUM PALUSTRE (LEDUM) 30C
● रोगी को ऐसा महसूस होता है जैसे कि एक गेंद पेट से घुटकी तक जाती है → ASA FOETIDA (ASAFOETIDA) 6C
● पेट → STICTA PULMONARIA (STICTA) Q
● स्तनों में धड़कन → BORAX VENETA (BORAX) 3X
● रेक्टम ऐसा लगता है मानो कड़े से बंधा हो → SYPHILINUM 1M
● पूरे शरीर में परिसंचरण सुनने जैसा लगता है → MORPHINUM 6X
● हवा से ऐसा लगता है जैसे कि कंधे क नीचे से हवा गुजर रही है → HEPAR SULPHUR (HEPAR SULPHURIS CALCAREUM) 30C
● अनुभूति मानो एक सेब कोर गले में घर कर गई → PHYTOLACCA DECANDRA (PHYTOLACCA) Q
● लगता है जैसे रक्त वाहिकाओं के माध्यम से फट जाएगा → LILIUM TIGRINUM 200C
● अनुभूति मानो शरीर को तारों में कैद कर लिया गया हो → CACTUS GRANDIFLORUS (SELENICEREUS SPINULOSUS) Q
● मस्तिष्क के ढीले होने और बगल से गिरने जैसी अनुभूति → SULPHURICUM ACIDUM Q
● अनुभूति मानो आंख भर गई हो और छोटे पत्थर → KALIUM NITRICUM (KALI NITRICUM – NITRUM) 30C
● जैसे आंखे ढीली हो गयी है → CARBO ANIMALIS 30C
● अनुभूति मानो आँखों को वापस सिर में खींच लिया गया हो → OENANTHE CROCATA 6C
● अनुभूति मानो ऑर्बिट्स के लिए आँखें बहुत बड़ी → SPIGELIA ANTHELMIA (SPIGELIA) 30C
● अनुभूति मानो आंत्रवायु गुज़र जाएगी → MAGNESIUM CARBONICUM (MAGNESIA CARBONICA) 30C
● अनुभूति मानो लकवा मार गया हो → SYPHILINUM 1M
● सिर और मस्तिष्क में अनुभूति जैसे अवरुद्ध → INDIUM METALLICUM (INDIUM) 30C
● अनुभूति मानो दिल धड़कना बंद हो गया हो तथा अचानक शुरू होना → CONVALLARIA MAJALIS 3X
● संवेदना मानो हृदय दाईं ओर है → BORAX VENETA (BORAX) 3X
● अनुभूति मानो किसी थ्रेड द्वारा दिल को निलंबित कर दिया गया हो → KALIUM CARBONICUM (KALI CARBONICUM) 200C
● संवेदना मानो हृदय रुक गई → CHININUM ARSENICOSUM 3X
● हृदय में पानी में तैरने जैसी अनुभूति → BUFO RANA (BUFO) 30C
● संवेदना मानो दिल मुड़ गया और घूम गया → TARENTULA HISPANICA 30C
● अनुभूति मानो कूल्हों को एक साथ खींची जा रहा → POLYGONUM HYDROPIPEROIDES (POLYGONUM PUNCTATUM) Q
● अनुभूति मानो कि सभी छिद्रों के माध्यम से गर्म धुआं आ रहा है → FLUORICUM ACIDUM 30C
● अनुभूति, जैसे कि स्वरयंत्र का विभाजित या फटना → ALLIUM CEPA 3C
● अनुभूति मानो अंग कांच के बने हों और आसानी से टूट जाएँ → THUJA OCCIDENTALIS Q
● अनुभूति मानो हवा में निचले अंग हिलते हैं → STICTA PULMONARIA (STICTA) Q
● अनुभूति मानो पीछे की ओर भागता हुआ माउस → SULPHUR 200C
● एक पैर लंबा होने जैसी अनुभूति → CANNABIS INDICA Q
● अनुभूति मानो एक अंग डबल हो → PETROLEUM 30C
● अनुभूति मानो लिंग एक नाल से बंधा हो → PLUMBUM METALLICUM Q
● अनुभूति मानो क्रमिक वृत्तों में सिकुड़नेवाली गतिया उलट गई थी → ASA FOETIDA (ASAFOETIDA) 6C
● अनुभूति, मानो बर्फ की सुइयों द्वारा छेदी गई हो → AGARICUS MUSCARIUS (AGARICUS MUSCARIUS-AMANITA) 30C
● अनुभूति मानो कमरा धुएँ से भर गया हो → CROCUS SATIVUS (CROCUS SATIA) Q
● अनुभूति, जैसे शरीर के ‘ जो अलग थलग गिर रहे थे → TRILLIUM PENDULUM Q
● अनुभूति जैसे गेंद पर बैठे हैं . → CANNABIS INDICA Q
● अनुभूति मानो आंखों के ऊपर कुछ बिछा हो ताकि वह ऊपर न देख सके → CARBO ANIMALIS 30C
● पानी में तैरता हुआ पेट जैसा अनुभूति → ABROTANUM 30C
● अनुभूति मानो पेट ऊपर और नीचे संतुलित है → PHOSPHORICUM ACIDUM Q
● अनुभूति जैसे ठंडे पानी में तैर रह है → SQUILLA MARITIMA 3C
● अनुभूति मानो टेंपल को एक साथ बिखेर दिया गया हो → LYCOPODIUM CLAVATUM (LYCOPODIUM) 200C
● एअनुभूति जैसे छड छाती के पार होती है → HAEMATOXYLON CAMPECHIANUM (HAEMATOXYLON) 3C
● अनुभूति जैसे शरीर के भाग ठंडे पानी मे है → LEDUM PALUSTRE (LEDUM) 30C
● गर्भाशय में एक गेंद का अनुभूति → USTILAGO MAYDIS Q
● सिर पर उत्तल बटन दबाने जैसी संवेदना → THUJA OCCIDENTALIS Q
● गुदाद्वार, पेट, हृदय से, सिर पर, एकल भागों में या उसके ऊपर गिरने वाले पानी की एक बूंद का अनुभूति → CANNABIS SATIVA Q
● ऊपरी ढक्कन और आंख की गेंद के बीच एक विदेशी शरीर की अनुभूति → COCCUS CACTI 3X
● गले में सख्त गांठ का होना अनुभूति → SULPHURICUM ACIDUM Q
● शीर्ष पर बर्फ की एक गांठ का होना अनुभूति → VERATRUM ALBUM 30C
● एक गांठ का अनुभूतिखेज दर्द होता है जैसे कि एक कठोर उबला हुआ अंडा पेट के हृत्पिण्ड के अंत में दर्ज किया गया है → ABIES NIGRA 30C
● सिम्फिसिस प्यूबिस और ओएस कॉक्सीगियस के बीच एक प्लग का अनुभूति → ALOE SOCOTRINA (ALOE) 30C
● माथे में एक गोल गेंद का अनुभूति, सिर हिलाते हुए भी मजबूती से बैठे → STAPHYSAGRIA 30C
● आई बॉल के माध्यम से एक स्ट्रिंग की अनुभूति → OXYTROPIS LAMBERTI (OXYTROPIS) 3C
● गले में लटके एक धागे की अनुभूति → COCCULUS INDICUS (COCCULUS) 30C
● पेशाब के लिए मलाशय में गेंद का अनुभूति → LILIUM TIGRINUM 200C
● पेट के चारों ओर बैंड की अनुभूति → CROTON TIGLIUM 30C
● पीठ के आसपास उबलते पानी की अनुभूति → USTILAGO MAYDIS Q
● कानों से बहते ठंडे पानी का अनुभूति → MERCURIUS SULPHURICUS, DRARG, OXYD, SUB-SULPH 30C
● गुदा में शून्यता का होना अनुभूति → PODOPHYLLINUM (PODOPHYLLUM) Q
● स्तनों में शून्यता का होना अनुभूति → BORAX VENETA (BORAX) 3X
● माथे और मस्तिष्क के बीच खाली जगह का अनुभूति → CAUSTICUM 12X
● उदर में किण्वन की अनुभूति जैसे कि खमीर का काम करना → LYCOPODIUM CLAVATUM (LYCOPODIUM) 200C
● मलाशय में कठोर बहरी चीज की अनुभूति → CAUSTICUM 12X
● त्वचा के नीचे गर्मी का अनुभूति → TEREBINTHINIAE OLEUM (TEREBINTHINA) 6C
● अंगों में खोखलापन का होना अनुभूति → COCCULUS INDICUS (COCCULUS) 30C
● मूत्रमार्ग में गर्म तार की अनुभूति → NITRICUM ACIDUM 6C
● आंत्र्वायू गुजरते समय मलाशय में असुरक्षा की अनुभूति → ALOE SOCOTRINA (ALOE) 30C
● उदर में चूने का उबाल आना अनुभूति → CAUSTICUM 12X
● पेट में बर्फ की गांठ का होना अनुभूति → BOVISTA LYCOPERDON (BOVISTA) 6C
● पक्षाघात का अनुभूति → PHOSPHORUS 30C
● पेट में पस पड़ना अनुभूति → GRAPHITES 30C
● पेट में रेत का होना अनुभूति → PTELEA TRIFOLIATA (PTELEA) 30C
● चलने पर कम नींद का अनुभूति → MYRICA CERIFERA (MYRICA) Q
● दिमाग में रहने वाली किसी चीज का अनुभूति मानो चींटी की पहाड़ी → AGARICUS MUSCARIUS (AGARICUS MUSCARIUS-AMANITA) 30C
● गले में पथरी का होना अनुभूति → BUFO RANA (BUFO) 30C
● कशेरुकाओं का संवेग एक दूसरे के ऊपर रगड्ता है अनुभूति → SULPHUR 200C
● गर्भाशय में वजन का होना अनुभूति → CIMICIFUGA RACEMOSA (CIMICIFUGA – ACTAEA RACEMOSA – MACROTYS) 12X
● गले में रेंगने वाले कृमि की अनुभूति → ZINCUM METALLICUM (ZINC) 6C
● त्वचा के नीचे कीड़े का होना अनुभूति → COCAINUM HYDROCHLORICUM (COCAINA) Q
● स्तूप पर अनुभूति मचती है जैसे कि पलकें बाहर गिर जाएंगी → BROMIUM (BROMUM) 3X
● सबसे छोटा श्रम भारी काम लगता है → KALIUM PHOSPHORICUM (KALI PHOSPHORICUM) 6X
● गंध तीव्र हर चीज मे अनुभूति → AURUM MURIATICUM NATRONATUM 3X
● पीछे से आगे स्तन में टाँके आना अनुभूति → OLEUM ANIMALE AETHEREUM (OLEUM ANIMALE) 30C
● पेट को एक हाथ से ट्रोम के रूप में पकड़ना, निचोड़ना, पकड़ना महसूस होता है → IPECACUANHA (IPECA) 200C
● सूखे भोजन से पेट भरा-भरा सा लगता है → CALADIUM SEGUINUM 6X
● ज़िगज़ैग दिशा में मूत्रमार्ग के साथ दर्द होना → CANNABIS SATIVA Q
● सोचता है कि वह विदेश में है → VERATRUM ALBUM 30C
● सोचता है कि वह एक सम्राट है → CANNABIS INDICA Q
● खुद को मसीह मानता है → CANNABIS INDICA Q
● सोचता है कि उसके दो सिर हैं → NUX MOSCHATA 6C
● सोचता है कि शरीर ने पूरी पृथ्वी को कवर किया → CANNABIS INDICA Q
● सोचता है कि वह व्यापार के लिए अयोग्य है → CROCUS SATIVUS (CROCUS SATIA) Q
● सोचता है कि वह विच्छेदित हो जाएगा → CANNABIS INDICA Q
● सोचता है कि वह काली है → SULPHUR 200C
● सोचता है कि चिकित्सक एक पुलिसकर्मी है → BELLADONNA 30C
● सोचता है कि बिस्तर में दो बच्चे हैं → PETROLEUM 30C
● श्वासनली संकरी लगती है → CISTUS CANADENSIS 12X
● गुदा में झनझनाहट → CONIUM MACULATUM (CONIUM) 200C
● यूटेरस डिस्टेंस्ड होता है मानो हवा से भरा हो → PHOSPHORICUM ACIDUM Q
● गर्भाशय खुला और बंद लगता है → NATRIUM HYPOCHLOROSUM (NATRUM CHLORATUM) Q
● वर्टिगो फैल रहा है, ऑसीपुट से → GELSEMIUM SEMPERVIRENS (GELSEMIUM) Q
● सिर के साथ संवेदना इस तरह से होती है जैसे सिर अचानक बढ़ गया हो → HYPERICUM PERFORATUM (HYPERICUM) Q
● मस्तिष्क के आधार पर हिंसक कुचल कुतरना दर्द → NATRIUM SULPHURICUM (NATRUM SULPHURICUM) 12X
● दृष्टि मंद, जैसे घूंघट के माध्यम से देखें → TABACUM 30C
● स्फिंक्टर एनी में आत्मविश्वास चाहते हैं → ALOE SOCOTRINA (ALOE) 30C
● अंडाशय से गर्भाशय तक दर्द जैसा अनुभूति → IODIUM (IODUM) Q
● जब बच्चे को दूध पिलाती है तो तो निप्पल से लेकर पूरे शरीर में दर्द होता है → PHYTOLACCA DECANDRA (PHYTOLACCA) Q
● बिस्तर पर लेटते समय बिस्तर बिस्तर महसूस नहि होता है → LAC CANINUM 200C
● पत्र पढते समय अक्षर गायब हो जाते है → CICUTA VIROSA 30X

error: Content is protected !!