सुजाक – Gonorrhoea | homeopathological treatment

सुजाक – Gonorrhoea

जननेद्रिय की सूजन की बीमारी l सम्भोग से फैलती है l गुप्तांगों से शुरू होकर खून के रास्ते दिमाग तक पहुंच सकती है l

● रोग के शुरू में जब पेशाब करते समय भयंकर दर्द l मवाद के कारण मूत्रद्वार बंद, पेशाब बूंद-बूंद कर आये – (कैंनाविस सैटाइवा 30 या 200)

● जब पेशाब जलन के साथ खून मिला हुआ, बूंद-बूंद कर आये – (कैंथेरिस 6 या 30 और थूजा 200 या 1M)

●  जब sujak के कारण जननांग पर मस्से हो l – (मैडोराइनम 200 या 1M)

● पुराना रोग, गठिया, आदि; ठण्ड से परेशानी – (मर्क सोल 30 या 200)

● रोग दबाने के कारण मूत्र नली में अत्यधिक दर्द – (एसिड नाइट्रिक 30 या 200)

● बायोकेमिक दवा – (काली सल्फ़ – 6X)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x