सादा बुखार – Simple Fever | homeopathological treatment

सादा बुखार – Simple Fever

ठंड लगने, चोट लगने, खाने- पीने या किसी अन्य कारण से बुखार हो जाये तो उसे सादा बुखार कहते हैं l सादा बुखार 103० F तक या इससे भी ज्यादा हो सकता है l

●  ठंड लगने से बुखार, प्यास, बेचैनी, मृत्यु का भय – (एकोनाइट 30, हर 2 घंटे पर)

●  जब पसीना और प्यास बिलकुल न हो – (जल्सेमियम 30, हर 2 घंटे पर)

●  आंख चेहरा लाल, हाथ पैर ठंडे, तेज बुखार के दौरान बच्चा चौंक उठे – (बेलाडोना 30, हर 2 घंटे पर)

●  चुपचाप लेटे रहने की इच्छा, हिलने डुलने से रोग बढ़े, रोगी पानी देर से मगर काफी मात्रा में पिए, जीभ सफ़ेद – (ब्रायोनिया 30, हर 2 घंटे पर)

●  भीगने के कारण बुखार, शरीर में दर्द, पतले दस्त, जीभ का अगला भाग लाल – (रस टक्स 30, हर 2 घंटे पर)

●  ठंडा, बासी खाना या खराब पानी पीने के कारण बुखार, बेचैनी व थोडा थोडा पानी जल्दी जल्दी पीने की इच्छा – (आर्सेनिक 30, हर 2 घंटे पर)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x