मासिक रुक जाना – Amenorrhoea | homeopathological treatment

मासिक रुक जाना – Amenorrhoea

युवावस्था में ऋतू न होने या एक बार होकर दोबारा न हो उसे मासिक रुक जाना कहते हैं l

●  डर या अचानक सर्दी लग जाने से मासिक न होना , बुखार प्यास व बेचैनी – (एकोनाइट 30, दिन में 3 बार)

● पैर में सर्दी लग कर या ज्यादा ठंडी हवा लग जाने से मासिक बंद हो जाना , मासिक के बदले सफ़ेद पानी आना – (पल्साटिला30 या 200)

●  मासिक बहुत थोडा हो या बंद हो जाये, सफ़ेद पानी, कब्ज, व योनि में भारीपन महसूस होना – (सीपिया 30 या 200)

● मासिक न होने पर सिरदर्द, ठण्ड लगना व कब्ज – (नैट्रम म्यूर – 200 या 1M)

● खून की कमी से मासिक न होता हो – (फैरम मैट 3X या 30)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x