बच्चों में हड्डियों का मुलायम होना – Rickets | homeopathological treatment

बच्चों में हड्डियों का मुलायम होना – Rickets

बच्चों की हड्डियां कैल्शियम की कमी के कारण कड़ी न होकर मुलायम रह जाती है। जिसकी वजह से बच्चे के बड़े होने पर भी हड्डियां पतली रह जाती है और टेढ़ी-मेढ़ी हो जाती है। सिर की हड्डियां जुड़ती नहीं जिससे सिर बड़ा दिखता है। पेट बाहर को निकल आता है। हाथ-पैर दुबले पड़ जाते हैं। यह सब पोषण क्रिया की गड़बड़ी के कारण भोजन में से कैल्शियम के भाग को पूरी तरह से न ले सकने के कारण होता है।

 ● मोटे थुलथुले बच्चों में, रात में खूब पसीना आता है। पाखाने में खट्टी गंध। शरीर में जगह जगह फूली ग्रंथियां – (कैल्केरिया कार्ब 200, दिन में 2 बार) 

 ● दूसरी मुख्य दवा। दुबले पतले बच्चों में, शरीर पर मांस न के बराबर, पेट कद्दू की तरह बड़ा। मांस पेशियां पुष्ट नहीं होती। दूध पचता नहीं – (साइलिशिया 30, दिन में 3 बार) 

 ● माथा बड़ा और शरीर दुबला पतला। पोषण की कमी की वजह से दुबलापन और अस्थि विकार। पेट अंदर को धंसा हुआ। गर्दन बहुत पतली जो कि सिर को न संभाल पाए। बालक मूर्ख सा दिखता है – (कैल्केरिया फॉस 6x, दिन में 4 बार) 

 ● सिर बड़ा, खूब भूख, खाता भी है और कमजोर भी होता जाता है। बुढा लगता है, झुर्रियां पड़ जाती है। चमड़ी लटकने लगती है – (सल्फर 30, दिन में दो बार)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x