प्रोस्टेट ग्रंथि – Prostatitis and prostatocystitis | homeopathological treatment

प्रोस्टेट ग्रंथि – Prostatitis and prostatocystitis

पुरुषों में मूत्राशय मुख ग्रंथि की सूजन, आदि के रोग यहां दिए गए हैं।

 ● मुख्य दवा – (पल्साटिला 30 या 200) 

 ● जब रोग की शुरुआत हो। अण्डकोषों में भी दर्द; छूने से बढ़े, पेशाब में रुकावट हो – (सैबाल सैरुलटा Q) 

 ● जब रोग चोट लगने के कारण हो – (आर्निका 30 या 200) 

 ● जब कष्ट रात के समय बढ़े – (मर्क सौल 30) 

 ● जब पेशाब रुक-रुक कर बूंद-बूंद आए – (पैरिएरा ब्रावा Q) 

 ● जब रोग पुराना हो और उपरोक्त दवाएं काम न करें – (सल्फर 200, 1M)

वृद्धावस्था के दूसरे रोगों के लिए अन्य अध्याय देखें।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Newest
Oldest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
shyamlal jandwani
shyamlal jandwani
5 months ago

Some specific patent medicine of Indian or German companies
Which are really effective for elders problems also be advised

error: Content is protected !!
2
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x