हिस्टीरिया – Hysteria

हिस्टीरिया – Hysteria

 स्नायुमंडल की क्रिया में गड़बड़ी के कारण यह रोग होता। यह रोग विशेषकर औरतों में ज्यादा होता है। स्नायविक दुर्बलता ही इस रोग का प्रमुख कारण है। 

●  जब औरतों में मासिक बंद होने के कारण रोग हो। – (पल्साटिला 30 या 200, दिन में 3 बार)

●  ऐसे रोगी, खासकर औरतें, जो दौरे में भी दूसरों को घृणा की दृष्टि से देखे – (प्लैटिना 200, दिन में 2 बार)

●  जब आत्महत्या का विचार प्रबल हो – (ऑरम मैट 200 या 1M, की 3 खुराक)

●  मासिक के समय दौरा। शंका जैसे कोई जहर खिला देगा – (हायोसाइमस 30 या 200, दिन में 3 बार)

●  जब कब्ज, पेट फूलना, हिचकी, आदि लक्षण भी हो – (नक्स वोमिका 30, दिन में 3 बार)

● दौरे के साथ नींद न आना, सिरदर्द, जैसे कोई सिर में कील ठोंक रहा है – (कॉफिया 30, दिन में 3 बार)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x