सौंदर्य और होम्योपैथी – Beauty Tips

सौंदर्य और होम्योपैथी – Beauty Tips

कई बार मस्से, त्वचा का ज्यादा खुरदरापन, या चिकनाहट, अनचाहे बाल, बालों का असमय सफेद होना, त्वचा पर धब्बे, कील, मुँहासे, आंखों का अंदर को धंसे होना, आदि के कारण व्यक्ति कुरूप नजर आने लगता है। मगर होम्योपैथिक चिकित्सा द्वारा इस कुरूपता को सुंदरता में काफी हद तक बदला जा सकता है।

●  खुश्क व खुरदरी त्वचा के लिए, रोगी जब नहाने से कतराए – (सल्फर 30 या 200)

●  खुश्क व खुरदरी त्वचा के लिए जब खारिश के बाद दर्द महसूस हो – (सोराइनम 30 या 200)

●  औरतों में आंखों के चारों ओर काले धब्बे जब किसी पुराने दुःख के कारण हो – (स्टेफिसेगिरिया 30 या 200)

●  जब आंखों के चारों ओर काले धब्बे स्नायविक कमजोरी (nervous weakness) के कारण हो – (फॉस्फोरस 30 या 200)

●  जब आंखों के चारों ओर काले धब्बे अत्यधिक स्राव (discharge) के कारण हो। चेहरा पीला व आंखें अंदर को धंसी हुई हो – (चाइना 30)

●  चेहरा पीला व साथ मे चेहरे व सीने पर पीले या भूरे धब्बे – (सीपिया 30 या 200)

●  काले या नीले रंग के धब्बों के लिए – (आर्सेनिक 30 व लैकेसिस 30)

●  चेहरे या अन्य किसी अंग पर लाल रंग की धारियां – (हाइपेरिकम 30 या 200)

●  चेहरे का रंग मुर्दे के समान पीला व आंखों के चारों ओर नीले रंग की पट्टी सी – (बिस्मथ 30)

●   रक्त की कमी (anaemia) के कारण पीलापन – (फेरम मैट 3X)

●  त्वचा का रंग साफ करने के लिए – (सरसापैरिला 30)

●  चेहरे पर निशान जो फोड़े – फुंसियों या मुहासों, आदि के कारण हो – (साइलीशिया 6X व काली फॉस 6X)

●  चेहरे पर चेचक के दाग – (वैरिओलिनम 200, सारासिनिया 30, थायोसिनैमिनम 2X)

खाने में दूध, दही, फल, हरी सब्जियां, अंकुरित अनाज व सलाद खूब खाएं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x