मोटापा – Obesity

मोटापा – Obesity

जब व्यक्ति आराम प्रिय जिंदगी व्यतीत करे। खूब खाए पीये, चलने फिरने व कसरत करने से कतराए तब उसके शरीर मे चर्बी जमा होने लगती है, और व्यक्ति मोटापा का शिकार हो जाता है। कई व्यक्तियों में यह रोग हार्मोन्स की गड़बड़ी के कारण भी हो सकता है।

● मुख्य औषधि – (फाइटोलक्का बेरी Q, 10-15 बूंद, दिन में 3 बार)

● जब रोगी मोटा थुलथुला हो (सोते समय सिर में खूब पसीना आए) – (कैल्केरिया कार्ब 200 या 1M)

●  जब कैल्केरिया कार्ब से फायदा न हो (गले मे गॉयटर हो) – (फ्यूकस वेस Q, 20-30 बूंद, हर 4 घंटे पर)

● जब मोटापा पेट की गड़बड़ी के कारण हो, कब्ज हो, जीभ पर सफेद परत जमी हो – (एंटीम क्रूड 30 या 200)

●  जब थायराइड ग्रंथि की गड़बड़ी के कारण मोटापा हो – (थायरोइडिनम 30, 200)

●  औरतों के लिए। जब कब्ज रहता हो – (ग्रेफाइटिस 30)

● जब मोटापे के साथ खून की कमी (anaemia) हो – (फेरम मैट 3X, या 6)

● जब कमर के निचले हिस्से से जांघों तक ज्यादा चर्बी चढ़ी हो – (अमोनियम म्यूर 3X, 200)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Newest
Oldest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Vijay kumar
Vijay kumar
5 months ago

This app is very helpful for us.treatment.for patient…thanks

error: Content is protected !!
1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x