मलेरिया बुखार – Malaria

मलेरिया बुखार – Malaria

आमतौर पर मलेरिया बुखार सर्दी लग कर चढ़ता है व पसीना आकर उतर जाता है l अधिक दिन तक मलेरिया रहने से जिगर व तिल्ली बढ़ जाते हैं l

● बुखार 9 से 11 बजे रात के समय हो l सर्दी थोड़ी देर लगती हो, बुखार ज्यादा देर तक रहता है l सिरदर्द जैसे सिर फट जायेगा l प्यास न लगे, जी मिचलाए, उल्टी लगे – (इपिकैक 30, हर 2 घंटे पर)

●  बुखार सुबह 8 बजे से दोपहर तक रहे l अन्दर से अत्यधिक सर्दी महसूस हो; रोगी हर समय कपड़ा ओढ़ना चाहे l सुबह के समय जी मिचलाए – (नक्स वोमिका 30, दिन में 4 बार)

● दिन में 12 बजे के बाद या रात में 12 बजे के बाद बुखार आए l कंपकंपी, बुखार, और पसीने में अनियमितता हो l पसीना आने से रोगी को आराम मिले l थोड़ी – थोड़ी देर में थोड़ा पानी का प्यास – (आर्सेनिक 30, दिन में 3 बार)

●  सर्दी दिन के 2-3 बजे के बीच लगे, सर्दी के साथ बुखार, पैर ठंडे रहे l सिर पर ज्यादा पसीना आए  – (कल्केरिया कार्ब 200, 2-3 खुराक)

●  बुखार जब घड़ी की सुई की तरह नियत समय पर आए – (सिड्रोन 30, दिन में 2-3 बार)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x