भगंदर – Fistula in Ano

भगंदर – Fistula in Ano

मलद्वार के अंदर फोड़ा होकर नासूर हो जाता है; इसे भगंदर कहते हैं। यह सहज में नहीं सूखता।

 ● मलद्वार में खुजली और जलन, पनीला स्राव, पाखाना सख्त, जिसका आधा भाग निकल आने पर फिर वापिस अंदर को खिसक जाए – (साइलीशिया 30, दिन में 3 बार) 

 ● अंध भगंदर (blind fistula) के लिए अचूक दवा – (सल्फर 30 या 200, दिन में 2 बार)

बाहरी प्रयोग के लिए गर्म पानी में लाल दवा डालकर किसी चौड़े बर्तन में बैठकर सेक करने से फायदा होता है। कैलेंडुला Q और पानी 1 और 10 के अनुपात में मिलाकर मलद्वार को अंदर तक ठीक से धोएं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x