दंत क्षय – Caries of the teeth

दंत क्षय – Caries of the teeth

● दाँत की जड़ व मसूड़ों में नासूर हो जाए; ठण्डक से आराम मिले – (एसिड फ्लोर 30 या 200, दिन में 3 बार) 

 ● दाँत में जल्द कीड़ा लगे और दाँत काले पड़ जाए – (स्टेफीसेगिरिया 30 व 200, दिन में 3 बार) 

 ● दूध के दाँतों में ही कीड़ा लग जाए। दाँत पहले पीला व बाद में काला हो जाए – (क्रियोजोट 30 या 200, दिन में 3 बार) 

 ● कीड़ा लगकर दाँत में घाव हो जाए मसूड़ों में घाव व फोड़े हो जाए – (हेक्ला लावा 30 या 200, दिन में 3 बार) 

 ● हर प्रकार के दंतशूल में लाभदायक – (प्लांटेगो 30 या 200, दिन में 3 बार) 

 ● दाँत दर्द; जरा से स्पर्श से लगे कि जान निकल जाएगी पर दाँत पर दाँत रख कर जोर से दबाने पर आराम आए – (चाइना 30 या 200, दिन में 3 बार) 

 ● दाँत का दर्द, ठंडा पानी मुँह में रखने से घट जाए – (कॉफिया 30 या 200, दिन में 3 बार) 

 ● गर्म चीजें पीने से दाँत का दर्द बढ़े – (कैमोमिला 30 या 200, दिन में 3 बार) 

 ● दाँत की जड़ में फोड़े, गरम सेक से आराम मिले, ठंडी हवा सहन न हो। काफी समय से चले आ रहे नासूर जो ठीक होने में न आते हों – (साइलिशिया 6X या 30, दिन में 3 बार) 

 ● दाँत हिले व जरा सा कुछ लगते हीं असहनीय दर्द हो – (कैल्केरिया फ्लोर 6X या 30, दिन में 3 बार)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x