तुतलाना, हकलाना – Stammering, Lisping

तुतलाना, हकलाना – Stammering, Lisping

● जब रोग जुबान मोटी होने के कारण हो – (नैट्रम कार्ब 30, दिन में 3 बार)

● बच्चों का तुतलाना – (बोविस्टा 30, दिन में 3 बार)

● प्रमुख औषधि। काफी प्रयास करने के बाद ही मुंह से कोई शब्द निकले – (स्ट्रामोनियम 30 या 200)

● रोगी जब रुक रुक कर बात करें – (काली ब्रोम 6, दिन में 3 बार)

● बोलते समय बीच-बीच में शब्द छूट जाए – ( कैमोमिला 30,दिन में 3 बार)

●   बोलते समय रोगी गलत शब्दों का प्रयोग करे –  (लाइकोपोडियम 30, दिन में 3 बार)

● शब्द मुंह में आते आते मुंह में ही रह जाए – ( साइक्युटा 30, दिन में 3 बार)

●  रोगी जब सिर्फ कुछ खास शब्दों पर ही अटके – (लैकेसिस 30, दिन में 2 बार)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Newest
Oldest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
चमन सिंह
चमन सिंह
5 months ago

डॉक्टर साहब मैं भी रुक रुक कर बोलता हूं और उनशब्दों को बीच में भूल जाता हूं बोलता बोलता

error: Content is protected !!
1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x