कमर दर्द – Backache

कमर दर्द – Backache

ठण्ड लगने , झटका या कमर में मोच आ जाने या अन्य किसी कारण से कमर दर्द हो सकता है l

●  ठंडी हवा लगने के कारण अचानक दर्द – (एकोनाइट 30, हर 2 घंटे बाद)

●  जब दर्द चलने – फिरने से घटे , ठंड व लेटे रहने से बढ़े – (रस टॉक्स 200, दिन में 3 बार, कैलकेरिया फ्लोर 6X या 12X, दिन में 4 बार)

● यदि सेकने से आराम हो – (मैग फ़ॉस 6X या 30 , दिन में 4 बार)

● जब दर्द ठंड व चलने फिरने से बढ़े – (ब्रायोनिया 30 या 200, दिन में 3 बार)

●  कमर के निचले हिस्से में (रीढ़ की हड्डी के निचले भाग) झटका आने का दर्द – (एस्कुलस 6 या 30, दिन में 3 बार)

●  कमर दर्द जैसे की कुछ चुभ रहा हो , कमजोरी व पसीना , सुबह 3-4 बजे दर्द बढ़े – (काली कार्ब 30 या 200, दिन में 3 बार)

●  ज्यादा काम करने या चोट लगने के कारण दर्द – (आर्निका 30 या 200, दिन में 3 बार)

●  मोटे थुलथुले लोगों में नहाते समय कमर दर्द – (कैलकेरिया कार्ब 200, सप्ताह में एक बार)

●  चिडचिडे. ठंडी प्रकृति वाले रोगियों में l लेटे-लेटे कमर दर्द जिसकी वजह से रोगी करवट भी बैठ कर ही बदल सके – (नक्स वोमिका 30 या 200, दिन में 3 बार)

● सोने व आराम करने से अच्छा लगे , कमर के निचले हिस्से में दर्द (खासकर औरतों में ) – (पल्साटिला 30, दिन में 3 बार)

●  कमर दर्द में डकारे आने से आराम आये – (सीपिया 30, दिन में 3 बार)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Newest
Oldest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
हरदेव आर्य
हरदेव आर्य
5 months ago

सर मैंने झुक कर बजन उठा लिया था जिस बजह से मेरी रीढ़ की हड्डी में L4-L5 में दिक्कत आ गई
आपसे निवेदन है उचित समाधान बताये ।
धन्यवाद ।।

error: Content is protected !!
3
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x