आग से जलना – Burns

आग से जलना – Burns

कपड़ों में आग लग जाने पर कभी भागना नहीं चाहिए; बल्कि फ़ौरन लेट जाना चाहिये और दरी, कम्बल, चादर या कुछ मोटा कपड़ा जो भी मिले उससे फ़ौरन ढक देना चाहिये l चुने के पानी में नारियल का तेल मिलाकर जले हुए स्थान पर लगाना चाहिये l कुछ सुविधा होने पर कैंथेरिस Q और पानी एक और दस के अनुपात में मिला कर लगाना चाहिये l ज्यादा जल जाने पर प्राथमिक उपचार करने के बाद मरीज को फौरन अस्पताल ले जाना चाहिये l 

●  मुख्य दवा; जब बेहद जलन हो – (कैंथेरिस 6 या 30 हर 2 घन्टे पर)

●  जब ज्यादा जलने के कारण जख्म हो जाये – (कैलेंडुला Q, पानी में मिला कर साफ़ करें)

●  जब ज्यादा जलने के कारण भय, बेचैनी व घबराहट आदि हो – (एकोनाइट 30, दिन में 4 बार)

●  यदि तेज प्यास, कमजोरी व मृत्यु भय हो – (आर्सेनिक एल्ब 30, दिन में 3 बार)

●  यदि जख्मों में मवाद पड़ने लगे व बेहद दर्द हो – (हिपर सल्फ़ 30, दिन में 3 बार)

●  यदि जख्म सड़ने लगे – (साइलिशिया 30, दिन में 3 बार)

●  गर्म पानी या तेल से जलने पर जब तक छाले न बनें हों – (अर्टिका युरेन्स Q, और पानी 1:10 के अनुपात में मिला कर लगायें)

●  जलने के बाद जब बार – बार जख्म हो – (कौस्टिकम 30, दिन में 3 बार)

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x