आंत उतरना – Hernia

आंत उतरना – Hernia

पेट से आंत का नाभि में या अंडकोष में जाने को हर्निया कहते हैं। बाहर से देखने में सूजन की तरह लग सकती है। कई बार ये आंते सावधानी से धीरे-धीरे चढ़ा देने से या दबा देने से अंदर चली जाती है।  कभी-कभी ऑपरेशन करवाना जरूरी हो जाता है।

 कारण : कब्ज, अधिक खाँसना, भारी वजन उठाना,  ज्यादा घुड़सवारी, अधिक श्रम, ज्यादा घूमना, टट्टी पेशाब के समय ज्यादा जोर लगाने आदि कारणों से यह रोग होता है।

 ● दाएं भाग के हर्निया में – (लाइकोपोडियम 30, दिन में तीन बार) 

 ● बाएं भाग के हर्निया में; जब कब्ज भी हो – (नक्स वोमिका 30, दिन में तीन बार) 

 ● जब सख्त कब्ज रहने के कारण हर्निया हो – (पलम्बम मैट 30, दिन में तीन बार) 

 ● जब आंत अचानक बीच में अटक जाए और उसकी वजह से सूजन, जलन वाला दर्द, घबराहट, ठंडा पसीना व मृत्यु भय हो – (एकोनाइट 30, हर आधे घंटे बाद) 

 ● हर्निया की मुख्य दवा;  खासकर मोटे व्यक्तियों के लिए – (कैलकेरिया कार्ब 200, 2-3 खुराक) 

अगर  ऊपर दी गई दवाओं से फायदा ना हो तो तुरंत ही किसी कुशल होम्योपैथिक चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x