अपेंडिक्स की सूजन – Appendicitis

अपेंडिक्स की सूजन  – Appendicitis

पेट में दाएं तरफ जहां छोटी और बड़ी आत मिलती है वहां एक छोटा सा दुम जैसा अंग है जिसे अपेंडिक्स कहते हैं। जब इस अंग में किन्ही कारणों से सूजन हो जाती है तो यह रोग अपेंडिक्स की सूजन कहलाता है।

  लक्षण : पेट के निचले हिस्से में नाभि के दाई ओर भयंकर दर्द, जी मिचलाना, उल्टी, बुखार आदि।

 ● अपेंडिक्स की प्रमुख दवा। दर्द वाली जगह को छूने से दर्द बढ़े – (आइरिस टेनैक्स 30, हर 2 घंटे बाद) 

 ● अचानक तेज बुखार, बेचैनी, घबराहट व मृत्यु भय – (एकोनाइट 30, हर आधे घंटे बाद) 

 ● दर्द के कारण चेहरा लाल, दर्द अचानक उठे और अचानक समाप्त हो जाए – (बेलाडोना 30, हर आधे घंटे बाद) 

 ● जब दर्द में दाहिनी ओर लेटने से आराम आए। कब्ज हो, अधिक प्यास व बुखार हो, हिलने डुलने से दर्द बढ़े – (ब्रायोनिया 30 या 200, हर आधे घंटे बाद) 

 ● जब अपेंडिक्स की जगह कपड़ा तक छू जाने से भी दर्द हो – (लैकेसिस 30, आवश्यकतानुसार) 

 ● जब रोग दाहिनी ओर लेटने से बढ़े़े व मवाद पड़ने का डर हो – (मर्क सॉल 30, हर 2 घंटे बाद) 

 ● जब रोगी दर्द के मारे दोहरा हो जाए, पेट को दबाने से आराम आए – (कोलोसिन्थ 30, हर 2 घंटे बाद) 

 ● जब रोग पुराना हो जाए व अन्य दवाओं से फायदा न हो – (सल्फर 200, आवश्यकतानुसार)

यदि रोग ज्यादा बढ़ गया हो तो दवा देकर मरीज को अनुभवी डॉक्टर को दिखाना चाहिए। अपेंडिक्स सड़ जाने पर ऑपरेशन करवाना आवश्यक हो जाता है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x